Menu Close

Shatavari Churna Ke Fayde- शतावरी चूर्ण के फायदे

शतावरी एक आयुर्वेदिक औषधि है, जिसका उपयोग कई वर्षों से आयुर्वेद में किया जा रहा है। शतावरी के कई स्वास्थ्य संबंधी फायदे हैं, इसका सबसे मुख्य फायदा महिलाओं में प्रजनन क्षमता को बढ़ाना है। शतावरी में कई प्रकार के गुण होते हैं जो इसे एक प्रभावी औषधि बनाते हैं। इसमें कई प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं जैसे विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन इ, विटामिन B6, फोलेट, आइरन, कॉपर, कैल्शियम, प्रोटीन और फाइबर। शतावरी का इस्तेमाल कई प्रकार की हर्बल दवाइयों को बनाने में किया जाता है खासकर प्रजनन क्षमता बढ़ाने वाली दवाइयों में इसका इस्तेमाल भरपूर किया जाता है। इस लेख में जानें Shatavari Churna Ke Fayde- शतावरी चूर्ण के फायदे।

शतावरी के और उपयोग फायदे:

शतावरी में कई ऐसे गुण है जो हमारे शरीर को सही ढंग से काम करने में मदद करते हैं और स्वास्थ्य को बेहतर बनाए रखने में मददगार है।

एंटीऑक्सीडेंट (Antioxidant) गुण- एंटीऑक्सीडेंट हमारे शरीर को खतरनाक Free-radicals से बचाते हैं ये Free-radicals हमारे शरीर के लिए सही नहीं होते। यह हमारे शरीर की कोशिकाओं को नष्ट करते हैं और कई बीमारियों को उत्पन्न करते हैं जैसे कि कैंसर। शतावरी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट हमारे शरीर में मौजूद Free-radicals को नष्ट करके हमारे शरीर को बीमारियों से बचाने में मदद करते हैं यह हमारे शरीर की कोशिकाओं को Free-radicals से बचाते हैं। ये Oxidative Stress वह भी कम करते हैं जो बीमारियों का कारण है।

एंटी इंफ्लेमेटरी (Anti-Inflammatory) गुण- शतावरी में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं जो हमारे शरीर में किसी भी प्रकार के सूजन / जलन को कम करने में मदद करते हैं शतावरी शरीर में चोट, घाव बीमारी या कोई अन्य कारणों की वजह से होने वाली जलन को कम करने में मददगार है।

रोग प्रतिरोधक क्षमता- शतावरी को शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए जाना जाता है इसमें कुछ ऐसे गुण होते हैं जो शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मददगार है। रोग प्रतिरोधक क्षमता हमारे शरीर को बीमारियों से बचाने, लड़ने में मदद करती है, इसलिए इसका सही रहना अति आवश्यक है। शतावरी खाने से हम हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को सही रखने में मदद कर सकते हैं।

दस्त- दस्त होना एक ऐसी स्थिति है जिसमें शरीर Dehydrate हो जाता है और शरीर में पानी की कमी हो जाती है। शरीर के Electrolyte असंतुलित हो जाते हैं जो शरीर के लिए खतरनाक है ऐसी स्थिति कभी कभी इतनी भयावह हो जाती है कि आपको अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत पड़ जाती है। शतावरी का उपयोग दस्त को ठीक करने में भी किया जाता है।

छाला (अल्सर)- अल्सर पेट , आँत , Esophagus कहीं भी हो सकता है इसका मुख्य कारण है, पाचन संबंधी बीमारियां। अल्सर काफी दर्दनाक भी हो सकते हैं और इससे रक्त स्त्राव की समस्या भी उत्पन्न हो सकती है इसलिए इसका इलाज बहुत ही जरूरी है शतावरी में ऐसे गुण है जो अल्सर को ठीक करने में मददगार है।

ब्लड शुगर- अध्ययनों के अनुसार शतावरी हमारे खून में मौजूद शुगर के स्तर को बनाए रखने में मदद करता है ऐसा माना जाता है कि शतावरी में कुछ ऐसे यौगिक (Compounds) हैं, जो शरीर में इंसुलिन (Insulin) को बनाने में मदद करते हैं जिससे शरीर में इंसुलिन सही मात्रा में बने रहते हैं। शतावरी मधुमेह से ग्रस्त रोगियों के लिए उत्तम है क्योंकि मधुमेह में शरीर में इंसुलिन सही मात्रा में नहीं बनते हैं और शतावरी शरीर में इंसुलिन को बनाने में मददगार है, यही कारण है कि यह मधुमेह (डायबिटीज) में भी उपयोगी है शतावरी का उपयोग डायबिटीज को काबू में रखने में उपयोगी है।

उम्र रोधी- अध्ययन के अनुसार, शतावरी उम्र के साथ बढ़ने वाले त्वचा संबंधी परेशानियों को कम करने में मददगार है। शतावरी करते संबंधित रोगो में भी उपयोगी है, इसमें एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं, जो शरीर में मौजूद Free-Radicals ओ खत्म करते हैं और हमारी शरीर की त्वचा को इनसे होने वाले नुकसान से बचाते हैं। जिससे हमार त्वचा में झुर्रियां नहीं पड़ती और निखार भी आता है, इससे हमारी त्वचा जवान दिखती है।

तनाव- तनाव हमारे शरीर के लिए घातक है। ज्यादा तनाव से अन्य बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता है। शतावरी में एंटीऑक्सीडेंट और antidepressants गुण पाए जाते हैं जो तनाव को कम करते हैं।

पुरुषों योन शक्ति- कई पुरषों में योन शक्ति की कमी हो जाती है, जिससे पुरषों में बांझपन की समस्या भी उत्पन्न हो जाती है। शतावरी में कुछ ऐसे गुण होते हैं जो पुरुषो के योन संबंधी समस्याओं को ठीक करने में मदद करते हैं शतावरी के सेवन से पुरुषों में योन शक्ति बढ़ती है।

उर्जा- शतावरी के सेवन से शरीर में उर्जा बनी रहती हैं थकावट महसूस नहीं होती हैं। शतावरी शरीर में ताकत का संचार करने में मददगार है।

रजोनिवृत्ति- महिलाओं में एक उम्र बाद मासिक धर्म बंद हो जाता है, यानी बच्चा पैदा करने की क्षमता खत्म हो जाती है लेकिन इस उम्र में कई तरह के लक्षण भी उत्पन्न हो जाते हैं जैसे नींद ना आना, सिरदर्द, थकावट आदि। शतावरी के सेवन से इन लक्षणों को कम करने में मदद मिलती है।

महिला प्रजनन- शतावरी के सेवन से महिलाओं में प्रजनन क्षमता बढ़ती है। शतावरी का सेवन उन महिलाओं के लिए उचित है, जिन्हें बांझपन की समस्या है। शतावरी महिलाओं में बांझपन को खत्म करने में मददगार है। शतावरी महिलाओं के हार्मोन को संतुलित करता है, जिन महिलाओं को Polycystic Ovary Syndrome (PCOS) की समस्या है शतावरी के सेवन से PCOS की समस्या को ठीक करने में मदद मिलती है जिसे उनमें प्रजनन क्षमता बढ़ जाती है।

ब्रेस्ट मिल्क उत्पादन- नवजात बच्चे के लिए मां का दूध अमृत होता है और उसके संपूर्ण विकास में मदद करता है इसलिए यह जरूरी है कि आपके बच्चे को आपका पर्याप्त दूध मिले शतावरी इन महिलाओं में ब्रेस्ट मिल्क उत्पादन को बढ़ाने में मददगार है।

वजन- शतावरी का सेवन उन लोगों के लिए भी उपयोगी है जिनका वजन बहुत अधिक है और वह अपने वजन को घटाना चाहते हैं। शतावरी मोटापा को कम करने में मददगार है।

शतावरी के अन्य फायदे:

रक्तचाप- शतावरी में भरपूर मात्रा में पोटेशियम पाया जाता है, जो उच्च रक्तचाप को नियंत्रित रखने में मदद करता है। उच्च रक्तचाप हमारे हृदय के लिए उचित नहीं है, इससे हृदय संबंधी बीमारी होने का खतरा रहता है।

हड्डियों के लिए- हड्डियां हमारे शरीर को बनाए रखती हैं, इसलिए इनका मजबूत बने रहना बहुत ही जरूरी है लेकिन कुछ कारणों से हमारे शरीर की हड्डियों और जोड़ों में दर्द या अन्य समस्या उत्पन्न हो जाती है। शतावरी में कैल्शियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो हड्डियों को मजबूत बनाता है और जोड़ों के दर्द में भी राहत प्रदान करने में मदद करता है।

अनिद्रा- कई लोगों को तनाव चिंता और अन्य कारणों से नींद आने में दिक्कत होती है, जिनका असर उनके संपूर्ण शरीर और दिनचर्या पर पड़ता है। अनिद्रा हमारे शरीर के लिए उचित नहीं है इससे अन्य कई बीमारियों के होने का खतरा बढ़ जाता है। शतावरी के सेवन से आप अनिद्रा की समस्या ठीक कर सकते हैं।

पाचन तंत्र- पाचन तंत्र हमारे शरीर की एक अहम प्रणाली है अगर पाचन तंत्र ठीक ना हो तो कई समस्याएं उत्पन्न हो जाती है जैसे कब जलन आदि। शतावरी के सेवन से पाचन तंत्र को सही रखा जा सकता है। इसमें फाइबर होता है जो पाचन तंत्र को ठीक रखने में मददगार है। शतावरी हमारे पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है और हमारी आंतों की कार्य क्षमता को भी बढ़ाता है।

गुर्दे के लिए- जिन लोगों को मूत्र और गुर्दे से संबंधित समस्या है तो वे शतावरी का सेवन कर सकते हैं। शतावरी मूत्र संबंधी और गुर्दे संबंधी समस्याओं को ठीक करने में मददगार है।

शतावरी कई बीमारियों के इलाज में उपयोगी है शतावरी टेबलेट पाउडर और सप्लीमेंट के रूप में भी बाजार में उपलब्ध है।

और पढ़ें:

Ashwagandha Ke Fayde

Thyroid Ke Lakshan, Karan , Upchar

Cancer Ke Lakshan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *