Menu Close

जल्दी प्रेग्नेंट होने के टिप्स, उपाय और तरीके- Jaldi Pregnant Hone ke Tips 

कुछ महिलाएं किसी न किसी कारणों से जल्द गर्भ धारण करना चाहती हैं। इस लेख में जल्दी प्रेग्नेंट होने के टिप्स, उपाय और तरीके  –Jaldi Pregnant Hone ke Tips के बारे में उल्लेख है जो जल्दी गर्भधारण करने में सहायक हैं। गर्भधारण कभी कभी तनावपूर्ण हो जाता है परंतु अगर आप कुछ प्लानिंग के साथ करें तो गर्भधारण करने में सफलता प्राप्त कर सकती हैं। गर्भधारण करने की कोशिश से पहले दोनों कपल को अपने स्वास्थ्य बहतर करना चाहिए। ध्यान में रखें कि गर्भधारण करने में थोड़ा समय लगता है। एक स्वस्थ फर्टाइल कपल के गर्भ धारण करने की संभावना 25% हर महीने होती है।

दोनों साथी की उम्र भी इसमें एक अहम भूमिका निभाती है। जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है वैसे-वैसे गर्भधारण की संभावना घटती जाती है ।

एक अनुमान के मुताबिक जिनकी उम्र 35 वर्ष से कम है उन्हें गर्भधारण करने में लगभग 6 महीने का समय लगता है।और जिनकी 35 वर्ष से अधिक है उन्हें गर्भधारण करने में 1 साल से ज्यादा भी लग सकते हैं। लेकिन अगर आप 1 साल से गर्भधारण करने का प्रयास कर रहे हैं।और सफलता नहीं मिल रही है तो आपको किसी Fertility Specialist Doctor से सलाह लेनी चाहिए ।

गर्भधारण करने का सही समय क्या है ?

गर्भधारण करने का सही समय आपके ओवुलेशन के दिनों में होता है। ये वो समय होता है जब आपके ओवरी से पूर्ण विकसित अंडा बाहर निकलता है। चूकि महिला का अंडा सिर्फ 12 से 24 घंटे तक ही जीवित रह सकता है। और पुरुष के शुक्राणु 48 से 72 घंटे तक जीवित रह सकते हैं। इसीलिए संभोग करने का सही समय आपके ओवुलेशन 2 से 3 दिनों के पहले से होता है। ताकि स्वस्थ शुक्राणु अंडे तक पहुंच कर उसे फर्टिलाइज़ कर सकें।

नीचे कुछ तरीकों और उपायों के बारे में बताया है जिससे आप जल्द गर्भधारण कर सकें –

1. नियमित व्यायाम – नियमित व्यायाम करने से ना सिर्फ आप फिट रहते हैं बल्कि आपकी फर्टिलिटी भी बढ़ती है। महिलाओं को गर्भधारण की कोशिश करने से पहले अपना स्वस्थ और वजन को उचित रखना चाहिए। क्योंकि मोटापा या बढ़ता हुआ वजन गर्भधारण करने में रुकावट पैदा करता है।

2. संतुलित आहार खाएं – अगर आप गर्भधारण करना चाहती हैं तो संतुलित आहार खाएं। जंक फूड से दूर रहे। पुरुष जिंक युक्त आहार लें जैसे कि अंडे , फल , हरी पत्तेदार सब्जियां, दाल आदि। जिंक पुरुष के शुक्राणुओं की संख्या को बढ़ाने में काफी महत्वपूर्ण है।

3. तनाव मुक्त रहें – गर्भधारण करना कभी कभी तनावपूर्ण हो जाता है। फिर भी ज्यादा तनाव प्रेगनेंसी को और मुश्किल बना देता है। पुरुष और महिला दोनो को तनाव लेने से बचना चाहिए और अपने तनाव को कम करना चाहिए । तनाव महिलाओं की मासिक चक्र पर भी बुरा असर डालता है और गर्भधारण की दिक्कतों को बढ़ाता है। आप अपने आप को तनाव मुक्त रखने के लिए डीप ब्रीदिंग या योगा अभ्यास कर सकते हैं।

4. धूम्रपान न करें – आजकल की जीवनशैली में तनाव संभावित है और कुछ लोग तनाव में या फिर कुछ गलत जीवनशैली अपनाकर स्मोकिंग करने लगते हैं। वैज्ञानिक अध्ययन से यह सिद्ध होता है कि स्मोकिंग करने वाले लोगों में इनफर्टिलिटी की समस्या ज्यादा होती है, चाहे वह महिला हो या पुरुष। स्मोकिंग महिलाओं के ओवरीज पर भी बुरा असर डालता है और महिलाओं में मेनोपॉज़ (Menopause) के कारणों को बढ़ाता है। स्मोकिंग पुरुष के शुक्राणुओं की संख्या को भी कम कर देता है जिससे गर्भधारण करने में परेशानी होती है ।

स्मोकिंग गर्भवती महिलाओं में गर्भपात (Miscarriage) का भी एक कारण होता है और यह गर्भ में पल रहे बच्चे के लिए भी घातक होता है ।

5. शराब न पीये – शराब दोनों पुरुष और महिला के लिए खराब है। पुरुष जो ज्यादा शराब का सेवन करते हैं उनमें इनफर्टिलिटी की शिकायत ज्यादा रहती है। महिला पुरुष जो बच्चा पैदा करना चाहते हैं उन्हें शराब का सेवन नहीं करना चाहिए।

6. अपने अंडकोष को ठंडा रखें – अपने पैरों को क्रॉस करके ज्यादा बैठना , अपनी जांघों पर लैपटॉप इस्तेमाल करना , अधिक गर्म जगह पर काम करना , टाइट अंडरवियर पहनना , इन सब कारणों से आपके अंडकोष का तापमान बढ़ जाता है जो कि आपके शुक्राणुओं के उत्पादन को कम करते हैं जिससे गर्भधारण होने में दिक्कतें आती है। आप इन आदतों को ठीक करके अपने गर्भधारण की संभावनाओं को बढ़ा सकते हैं।

7. ओव्युलेशन (Ovulation) के समय का पता लगाना – चूकि पुरुष के शुक्राणु 48 – 72 घंटे तक जीवित रह सकते हैं ,जबकि महिला का अंडा ओव्युलेशन के बाद सिर्फ 12 -24 घंटे तक ही जीवित रहता है। इसीलिए गर्भधारण के लिए यह जरूरी है कि महिलाएँ इस समय जरूर संभोग करें , जिसके लिए महिला को अपने ओव्युलेशन का समय का पता लगाना होगा। कुछ तरीकों से महिला अपने ओव्युलेशन समय का पता लगा सकती है जैसे कि अपना Basal Body Temperature जानकर , ( आप basal body thermometer का उपयोग कर सकती है ) , अपने Cervical mucus की जांच करके, ( जो कि ओव्युलेशन के समय अधिक गिला और चिकना हो जाता है ) और ओव्युलेशन किट का उपयोग करके ( जो कि बिल्कुल Pregnancy किट की तरह होता है )।

आप को अपने ओव्युलेशन समय के 2 से 3 दिन पहले से ही संभोग करना चाहिए। जिससे कि ज्यादा से ज्यादा शुक्राणु महिला के फैलोपियन ट्यूब (Fallopian tube) में हो ताकि वो महिला के अंडे को फर्टिलाइज़ कर सके जिससे की आप गर्भधारण कर पाएँ।

8. नियमित संभोग करना – हर दो-तीन दिनों या रातों में संभोग करें , और अपने सबसे फर्टाइल दिनों में हर दिन संभोग करें। जल्दी गर्भधारण करने के लिए अपने मासिक धर्म को चार्ट करें , नियमित सेक्स करने से पुरुष के शुक्राणु स्वस्थ रहते हैं जिससे जल्दी गर्भ धारण करने में मदद मिलती है ।

9. वेजाइनल लूब्राइकंट्स (Vaginal Lubricants) – वेजाइनल लूब्राइकंट्स का उपयोग ना करें। कई शोघ से ये पता लगता है कि Vaginal lubricants पुरुष के शुक्राणु बुरा प्रभाव डालते हैं।और शुक्राणु को अंडे तक पहुंचाने में बाधा पैदा करते हैं इसीलिए इनका इस्तेमाल नहीं करना चाहिए ।

10. नींद – अधूरी नींद महिला के मासिक धर्म चक्र पर बुरा असर डालती है। जिससे कि महिला को गर्भधारण करने में दिक्कतें आती है इसीलिए संपूर्ण नींद अवश्य है।

11. कॅफीन (Caffeine) – कॅफीन कम लें – शोध अध्ययन में इस बात को समर्थन किया है कि जो लोग ज्यादा Caffeine ( Coffee ) पीते हैं उनमें इन्फेरलिटिटी की समस्या ज्यादा बढ़ जाती है इसीलिए कॉफी कम ही पिये है ।

12. सेक्स पोज़िशन – वे सब सेक्स पोजिशन जो लिंग को महिला की योनि की गहराई में पहुंचाने में मदद करते हैं, गर्भधारण करने की संभावनाओं को बढ़ा देते हैं जैसे कि मिशनरी पोज़िशन या डॉगी स्टाइल सेक्स पोज़िशन। संभोग करते समय महिला को एक तकिया अपने नीचे रखना चाहिए और संभोग के बाद लगभग 20 मिनट तक महिला को अपने पैरों को उठा कर रखना चाहिए , इससे शुक्राणुओं को ज्यादा मदद मिलती है।

13. शुक्राणुओं की गुणवत्ता – शुक्राणुओं की गुणवत्ता को बढ़ाने से गर्भधारण करने की संभावना बहुत ज्यादा बढ़ जाती है। पुरुष को संतुलित आहार खाना चाहिए जैसे की दाल , मछली, हरी सब्जियां ,फल आदि। पुरुष को विटामिन सी और जिंक युक्त भोजन खाना चाहिए।पुरुष अपने लाइफ स्टाइल को बदल कर अपने शुक्राणुओं की गुणवत्ता को बढ़ा सकते हैं।

14. ऑर्गॅज़म (Orgasm) – Orgasm ना सिर्फ संतुष्टि और आनंद देता है बल्कि यह गर्भधारण करने में भी सहायक है इसीलिए संभोग के दौरान उत्तेजना प्राप्त करनी चाहिए।

15. सुबह के समय संभोग – कई शोधकरताओ का मानना है कि सुबह के समय संभोग करने से गर्भ धारण करने की अन्य समय के मुकाबले ज्यादा संभावना होती है, इसीलिए सुबह के समय संभोग करने की कोशिश करें।

ऊपर बताए गए जल्दी प्रेग्नेंट होने के टिप्स, उपाय और तरीके से आप जल्दी गर्भधारण कर सकती हैं। लेकिन अगर एक साल तक भी गर्भधारण ना हो तो Fertility Specialist Doctor से मिलने मे देरी न करें। क्योंकि समय के साथ आपकी गर्भधारण की संभावना कम होती जाती है।

और पढ़ें:

https://www.sehatness.com/how-to-conceive-a-baby-boy-in-hindi

https://www.sehatness.com/best-sex-positions-to-get-pregnant-fast-in-hindi

https://www.sehatness.com/pcos-in-hindi

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *