Menu Close

खर्राटे का इलाज (How to stop snoring in hindi)

सोते वक्त जब आप सांस लेते हैं तो हवा आपके नाक से ना निकल कर आपके गले से अंदर-बाहर होती है और आपके गले के टिशू में कंपन होने लगती है। जिससे एक ध्वनि उत्पन्न होती है जिसे हम खर्राटे कहते हैं। इस लेख में आप जानेंगे खर्राटे का इलाज (How to stop snoring in hindi)

खर्राटे आपकी और आपके साथी की नींद खराब कर देते हैं। इसे हमे नज़रअंदाज नहीं करना चाहिए , क्योंकि यह एक तरह की स्लिप डिसऑर्डर है। हमें इसके कारण का पता लगाना चाहिए क्योंकि यह गंभीर स्वस्थ स्थिति हो सकती है जिनका इलाज जरूरी है।

ख़र्राटों से जुड़े कुछ स्वास्थ्य बीमारियां निम्न है :-

1. Disruptive Sleep Apnea

2. गले और नाक संबंधी संरचना समस्या

3. Sleep Deprivation

4. मोटापा

ख़र्राटों के कुछ उपाय और चिकित्सीय उपचार निम्नलिखित हैं :-

1. एक तरफ होकर सोयें – अगर आप अपने पेट के बल सोते हैं तो आपके गले से अंदर-बाहर होने वाली हवा आंशिक रूप से बाधित हो जाती है। जिनके कारण आपकी जीभ आपके गले के पीछे चली जाती है जिससे खर्राटे की आवाज ज्यादा बढ़ जाती हैं। जबकि आपके एक तरफ हो कर सोने से हवा आसानी से अंदर-बाहर होती हैं जिससे ख़र्राटों की आवाज कम आती है।

2. अपने सर को उठा कर सोएं – खर्राटों की आवाज कम करने के लिए अपने सर को थोड़ा उठाकर सोंये, आप एंटी स्नोर (Anti-snore) तकिया का इस्तेमाल कर सकते हैं।

3. वजन को कम करें – अपने वजन को कम करके, आप अपने गले के अतिरिक्त वसा को कम कर सकते हैं , जिससे आपके ख़र्राटों में कमी आएगी आप रोजाना व्यायाम करके और संतुलित आहार लेकर अपना वजन कम कर सकते हैं।

4. शराब का सेवन कम करें – सोने से पहले शराब का सेवन ना करें शराब आपके गले की मांसपेशियों को ढीली कर देता है जिससे ख़र्राटों की आवाज बढ़ जाती है।

5. स्मोकिंग ना करें – स्मोकिंग करने से आपके गले की त्वचा उत्तेजित हो जाती है जिससे खराटे और बढ़ जाते हैं।

6. Nasal Strips या Nasal Dilator का उपयोग – Nasal Strips आपकी नाक में लगाई जाती है ताकि आप सही से सांस ले सके जिससे खर्राटे बंद हो जाते हैं , Nasal Dilator को भी नाक में लगाया जाता है।

7. Allergy को ठीक करना – अगर आपको किसी भी चीज में एलर्जी है तो डॉक्टर की सलाह लेकर उसे ठीक करें क्योंकि ख़र्राटों की एक वजह एलर्जी भी है।

8. अपनी नाक की संरचना को ठीक करना – कुछ लोगों को ( Deviated Septum ) होता है। जिसमें नाक के दोनों तरफ की बीच की संरचना ठीक नहीं होती जिससे की हवा नाक में सही से अंदर-बाहर नहीं हो पाती और मुंह के जरिए प्रवाहित होती है जिससे ख़र्राटों की आवाज उत्पन्न होती है। डॉक्टर की सलाह लेकर इसे ठीक करवाएं।

9. Oral Appliance का उपयोग करें – Dental Mouthpiece और Oral Appliance आपको आसानी से सांस लेने में मदद करते हैं जिससे ख़र्राटों की आवाज बंद हो जाती है।

10. CPAP ( Continues Positive Airway Pressure ) Machine – CPAP machine आप के स्वास नली को खोल कर रखते हैं जिससे खर्राटे नही आते। ऐसे बहुत सारे Devices है जो अलग-अलग आकार के आते हैं जैसे Nasal pillows, Nasal masks, Full- Face masks .

11. जीभ और गले के कसरत – कुछ समय पश्चात गले और जीभ की मांसपेशियां ढीली पड़ने लगती हैं इसीलिए एक्सरसाइज के द्वारा इन्हें मजबूत करने से खर्राटे कम हो सकते हैं।

12. Chin Strap – Chin Strap उन लोगों के लिए मददगार हैं जिनके ख़र्राटों की वजह मुंह से सांस लेना है। Chin Strap आपके जबड़ों को पकड़ कर रखते हैं ताकि आप मुंह की जगह नाक से सांस ले सकें।

13. Somnoplasty – ये उपचार Low Intensity Radio Waves के जरिए किया जाता है जिससे आपकी तालु की मांसपेशियां सिकुड़ जाती हैं । और ख़र्राटों की आवाज़ बंद हो जाती है।

14. Surgery – नाक कान और गले (ENT) के डॉक्टर की सलाह से ख़र्राटों के लिए उचित सर्जरी के बारे में जाने।

ख़र्राटों के लिए घरेलू उपाय :-

1. हल्दी – हल्दी एक बहुत ही ताकतवर औषधि हैं, इसमे Antiseptic and Anti biotic Agent हैं, हल्दी हमारे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती हैं और यह ख़र्राटों को भी कम करने में सहायक है। रोजाना सोने से पहले हल्दी वाला दूध जरूर पिएं।

2. लहसुन – लहसुन हमारे स्वसन तंत्र ( Respiratory system ) के लिए बहुत ही आवश्यक है और ख़र्राटों को कम करने में मददगार भी है। रोजाना एक या दो लहसुन की कलियां पानी के साथ खाएं।

3. शहद – शहद में चिकित्सक गुण होते हैं जो हमारे गले को लाभ पहुंचाते हैं और ख़र्राटों को कम करते हैं। रोजाना शहद गर्म पानी या दूध के साथ से।

4. Peppermint – पुदीना में anti Inflammatory गुण होते हैं जो हमारे गले और नाक की मांसपेशियों के सूजन को कम करते हैं और सही ढंग से सांस लेने में मदद करते हैं । सोने से पहले पिपरमिंट खाएं या पिपरमिंट ऑयल से गले में मालिश करें।

5. Olive oil – Olive oil में भी Inflammatory गुण होते हैं। जो सांस की नली को सजग रखने में सहायक हैं और किसी सूजन को भी कम करते हैं। जिससे सांस लेने में आसानी होती है। ऑलिव ऑयल से गले में होने वाली कंपन भी कम हो जाती हैं। जिससे खर्राटे बंद या कम हो जाते हैं। आप सोने से पहले आधा चम्मच ऑलिव ऑयल शहद के साथ मिलाकर ले सकते हैं।

6. घी – घी में चिकित्सकीय गुण होते हैं। जो आपके नाक के अवरुद्ध को खोलने में मदद करते हैं। जिससे आप के खर्राटे कम हो जाते हैं। सोने से पहले दो बूंद हल्का गर्म घी अपने नाक में डालें।

7. इलायची – इलायची नाक की नली के विरुद्ध को रोकती हैं जिससे ख़र्राटों में कमी आती है। सोने से पहले इलायची खाएं।

8. मेथी – ख़र्राटों का एक कारण अपाचन भी है। मेथी पाचन तंत्र को ठीक रखने में मददगार है। मेथी को पानी में भिगोए और उस पानी को सोने से पहले की है।

9. Eucalyptus (सफेदा) Oil – Eucalyptus Oil नाक की नली को सजग रखकर ख़र्राटों को कम करने में सहायक है। रोजाना सोने से पहले Eucalyptus Oil को गर्म पानी में डालकर भाप लें।

10. अदरक की चाय – अदरक में Anti Bacterial or Anti Inflammatory गुण होते हैं। जो नाक की नली को खुली रहने में मदद करते हैं। यह गले की मांसपेशियों के लिए भी लाभदायक है। रोजाना अदरक और शहद की चाय पिए।

अगर ऊपर दिए गए किसी भी उपाय से आपके खर्राटे ठीक ना हो तो इसका यही मतलब है कि आप की यह स्थिति काफी गंभीर है। आपको बिना समय गवाए डॉक्टर की सलाह और सहायता लेनी चाहिए।

और पढ़ें:

https://www.sehatness.com/ashwagandha-ke-fayde

https://www.sehatness.com/low-blood-pressure-in-hindi

https://www.sehatness.com/pet-kam-karne-ke-gharelu-upay

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *