Menu Close

ब्रेस्ट मिल्क बढ़ाने वाले 34 फूड- Foods to Increase Breast Milk in Hindi

मां के दूध में कई प्रकार के गुण होते हैं और मां के में दूध बच्चे के रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने वाले गुण होते हैं। मां का दूध बाद में बच्चे में होने वाली बीमारियों से बच्चे को बचाता है। जो मां अपने बच्चे को दूध पिलाती है उसमें ब्रेस्ट कैंसर होने की संभावना भी कम हो जाती है। मां के दूध में कुछ ऐसे गुण होते हैं जो बच्चे में नींद को बढ़ावा देते हैं। तनाव ब्रेस्ट मिल्क उत्पादन को कम करते हैं इसीलिए तनाव न लें। इस लेख में जानें ब्रेस्ट मिल्क बढ़ाने वाले 34 फूडFoods to Increase Breast Milk in Hindi

हर गर्भवती महिला यह जरूर जानना चाहती है कि अपने ब्रेस्ट मिल्क को बढ़ाने के लिए क्या-क्या खाना चाहिए। कई ऐसे फल और सब्जियां है जो आपके ब्रेस्ट मिल्क को बढ़ाने में सहायक है इसीलिए आपको हर तरह के फल और सब्जियां खानी चाहिए ताकि आपको हर तरह के विटामिंस मिनरल्स और अन्य पोषक तत्व मिले जो कि आपके बच्चे के विकास के लिए महत्वपूर्ण है।

कुछ ऐसे समय जब आपके ब्रेस्ट मिल्क में कमी आती है-

1. आपके मासिक धर्म के दौरान

2. जब आप गर्भनिरोधक गोलियां ले

3. जब आप बहुत ज्यादा तनाव ले

इस दौरान आपके दूध में कमी आ सकती है। आप अपने डॉक्टर से सलाह ले सकती हैं। आपके डॉक्टर आपको ब्रेस्ट मिल्क बढ़ाने के बारे में उचित सलाह दे सकते हैं।

नीचे कुछ औषधियों और आहार के बारे में बताया गया है जो ब्रेस्ट मिल्क बढ़ाने में मददगार हैं-

1. मेथी- मेथी गर्भवती महिलाओं में ब्रेस्ट मिल्क को बढ़ाने के सबसे महत्वपूर्ण उपायों में से एक है। इसके कोई नुकसान नहीं है अगर सही मात्रा में लिया जाए। मेथी Lactating hormones को बढ़ाती है। मेथी Estrogen hormones का एक बढ़िया स्त्रोत है।

खाने का तरीका- मेथी को गर्म पानी में उबालने और पानी को छानकर ठंडा कर लें और हर सुबह खाली पेट पिए। आप मेथी के लड्डू भी बना कर खा सकती हैं। यह देखा गया है कि जो गर्भवती महिला इसे लेती है उसके 24-72 घंटों के अंदर ब्रेस्ट मिल्क में वृद्धि हो जाती है।

2. सौंफ- सौंफ पाचन तंत्र और मासिक धर्म की समस्याओं को ठीक करने में बहुत ही उपयोगी है। सौंफ से ब्रेस्ट मिल्क में भी वृद्धि होती है। महिला के Estrogen hormones को बढ़ाने में भी सौंफ उपयोगी है।

खाने का तरीका- आप सबको माउथ फ्रेशनर के रूप में खा सकते हैं या इसे चाय में उबालकर भी पी सकते हैं। इसे सुबह के समय लेना बेहतर होता है।

3. जीरा- जीरा हमारे रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने और पाचन तंत्र को ठीक रखने में बहुत ही मददगार है। इससे कब्ज भी ठीक होता है। जीरा आयरन का एक अच्छा स्त्रोत है। जीरा गर्भवती महिलाओं के ब्रेस्ट मिल्क को बढ़ाता है।

खाने का तरीका- जीरे को भूनकर पीस लें और पाउडर बना लें और सुबह के समय या रात को सोने से पहले इसे दूधिया हल्के गर्म पानी में मिलाकर पिए।

4. अजवाइन- अजवाइन के बहुत सारे गुण हैं यह पाचन, पेट दर्द, कब्ज के लिए बहुत ही उपयोगी है। यह ब्रेस्ट मिल्क के उत्पादन को भी बढ़ाने में उपयोगी है। यह महिलाओं में कब्ज की समस्या को भी ठीक करता है।

खाने का तरीका- अजवाइन को पानी में उबालकर छान लें फिर ठंडा करके खाली पेट पिएं।

5. कद्दू के बीज- कद्दू के बीज प्रोटीन फाइबर के अच्छे स्त्रोत हैं। इसमें ओमेगा 3 फैटी एसिड भी होता है जो बच्चे के दिमाग और Nervous System के सही विकास में मदद करता है। इसमें calories भी भरपूर मात्रा में होती है। यह DHA का प्राकृतिक स्त्रोत भी है जो ब्रेस्ट मिल्क को बढ़ाने में मददगार है।

खाने का तरीका- कद्दू के बीज को भूनकर और पाउडर बनाकर सलाद और स्नैक्स में डाल कर खा सकते हैं।

6. तिल के बीज- तिल के बीज कैल्शियम और अन्य पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं। कैल्शियम हड्डियों की मजबूती के लिए उपयोगी है इसीलिए उन महिलाओं के लिए बहुत ही जरूरी है जिन्होंने हाल में बच्चे को जन्म दिया है। तिल के बीज ब्रेस्ट मिल्क को बढ़ाने में बहुत उपयोगी है।

खाने का तरीका- आप तिल के बीज से बने मिठाईयां लड्डू खा सकती हैं। आप इसे दूध के साथ भी ले सकते हैं।

7. Oat Meal- ओट्स Iron का अच्छा स्त्रोत है इसमें फाइबर भी होता है जो पाचन शक्ति को बढ़ाता है। Oats Cholesterol को भी कम करता है। Oats ब्रेस्ट मिल्क को भी बढ़ाने में मदद करता है और तनाव के स्तर को कम भी करता है।

खाने का तरीका- ओट्स को दूध में पकाकर खाएं आप इसमें फल भी मिला सकती हैं।

8. काबली चना- यह प्रोटीन कैल्शियम बी कंपलेक्स विटामिंस और फाइबर का अच्छा स्त्रोत है यह ब्रेस्ट मिल्क को भी बढ़ाता है।

खाने का तरीका- काबली चना को रात भर भिगोकर रखें और फिर इसकी सब्जी बनाकर खाएं।

9. ब्राउन राइस (Brown Rice)- ब्राउन राइस में भरपूर मात्रा में फाइबर पाया जाता है। ब्राउन राइस हारमोंस को उत्तेजित कर ब्रेस्ट मिल्क बढ़ाने में सहायक होते हैं। यह शरीर में शुगर के स्तर को भी नियंत्रित रखते हैं।

10. गाय का दूध- गाय के दूध में बहुत सारे पोषक तत्व होते हैं। गाय का दूध कैल्शियम का बहुत ही अच्छा स्त्रोत है। यह ब्रेस्ट मिल्क को बढ़ाने में मददगार है। अन्य दूध के उत्पाद जैसे पनीर चीज भी ब्रेस्ट मिल्क को बढ़ाते हैं।

11. दही- दही में Probiotics गुण होते हैं। इसमें प्रोटीन कैल्शियम पोटेशियम फॉस्फोरस और विटामिन बी 12 भरपूर मात्रा में पाया जाता है। दही पाचन तंत्र को सही रखने में मदद करता है। यह ब्रेस्ट मिल्क को भी बढ़ाने में मददगार है।

12. अंडे- अंडा प्रोटीन , विटामिंस , कैल्शियम , ओमेगा 3 , फैटी एसिड , मिनरल्स और फास्फोरस से भरपूर होता है। यह ब्रेस्ट मिल्क को भी बढ़ाने में मददगार है। अगर आपको जी मचलना , घमोरियां , उल्टी , सूजन , सांस लेने में दिक्कत जैसे लक्षण दिखे तो अंडा खाना बंद कर दे।

13. मसूर दाल- मसूर दाल पोटेशियम , कैल्शियम , जिंक , फाइबर , प्रोटीन और आयरन का अच्छा स्त्रोत है जो ब्रेस्ट मिल्क बढ़ाने में उपयोगी है।

14. पालक- पालक आईरन, कैलशियम, फोलिक एसिड, विटामिंस और मिनरल्स का अच्छा स्त्रोत है। पालक के यह गुण ब्रेस्ट मिल्क को बढ़ाने में मदद करते हैं।

15. गाजर- गाजर में कुछ ऐसे गुण होते हैं जो मां के दूध को बढ़ाने में मदद करते हैं। इसमें विटामिन ए होता है जो Lactation Hormones को बढ़ाता है जिससे ब्रेस्ट मिल्क बढ़ने में मदद मिलती है। महिलाएं जो बच्चे को दूध पिलाती हैं उन्हें गाजर जरूर खाना चाहिए।

16. स्वीट पोटेटो (Sweet Potato)- स्वीट पोटेटो (मीठे आलू) में विटामिन ए पाया जता है जो ब्रेस्ट मिल्क को बढ़ाने में मदद करता है। इसमें फास्फोरस, विटामिन बी, विटामिन B2, विटामिन सी, पोटेशियम, फाइबर, कॉपर, विटामिन बी 6 और मैग्नीशियम पाया जाता है। इसमें anti-stress गुण होते हैं। इसमें आयरन है जो पाचन तंत्र को बेहतर करता है। आप स्वीट पोटेटो को उबाल कर खा सकती हैं।

17. लहसुन- लहसुन में बहुत सारे स्वास्थ्य संबंधी गुण है। लहसुन बच्चे को दूध पिलाने वाली मां के लिए बहुत उपयोगी है। इसमें कुछ Lactating गुण है जो ब्रेस्ट मिल्क को बढ़ाने में मददगार है। आप रोजाना पांच से छह लहसुन की कलियां खा सकती हैं।

18. अदरक- अदरक में बहुत सारे औषधीय गुण होते हैं। इसका कई तरह के स्वास्थ्य बीमारी जैसे अपच, कब्ज, तनाव, उल्टी बुखार, सर्दी, कफ आदि के घरेलू इलाज में उपयोग किया जाता है। अदरक में Lactating Hormones को उत्तेजित करने के गुण पाए जाते हैं जो ब्रेस्ट मिल्क को बढ़ाने में मदद करते हैं।

20. सहजन- सहजन आयरन और कैल्शियम के बढ़िया स्त्रोत हैं। इसमें कई प्रकार के पोषक तत्व होते हैं। यह खून के प्रवाह को बेहतर करता है। यह रोग प्रतिरोधक क्षमता और Nervous system  को भी बेहतर करता है। इन्हीं गुण के कारण यह ब्रेस्ट मिल्क को भी बढ़ाने में मदद करता है आप सहजन की सब्जी बना कर खा सकती हैं।

21. कच्चा पपीता- पपीता में कई पोषक तत्व और गुण पाए जाते हैं। यह कब्ज को भी ठीक करता है। पपीता Oxytoxin को बनाता है जिससे ब्रेस्ट मिल्क को बढ़ने में मदद मिलती है।

22. करेला- करेला Folate , Fiber , Phyto-nutrients का अच्छा स्त्रोत है। इसमें विटामिन ए और विटामिन सी भी पाया जाता है। इससे ब्रेस्ट मिल्क उत्पादन में भी वृद्धि होती है। यह रोग प्रतिरोधक क्षमता और पाचन प्रणाली को भी बेहतर करता है।

23. शतावरी- शतावरी एक बहुत ही शक्तिशाली औषधि है जो ब्रेस्ट मिल्क बढ़ाने में बहुत उपयोगी है। यह lactating hormones को उत्तेजित करते हैं। इसे उचित मात्रा में ही उपयोग करें।

24. अल्फ़ा अल्फ़ा (Alfa Alfa)- अल्फ़ा अल्फ़ा भी एक औषधि है जो विटामिन ए, विटामिन सी, प्रोटीन, फाइबर और मिनरल्स का अच्छा स्त्रोत है। Alfa-Alfa में Anti – Oxidants भी है जो उच्च रक्तचाप को ठीक करते हैं और खून को साफ रखने में मदद करते हैं। इसके यह सब गुण के कारण ब्रेस्ट मिल्क उत्पादन को बढ़ाने में मददगार है। आप Alfa Alfa युक्त सप्लीमेंट्स ले सकती हैं।

25. हल्दी- हल्दी में औषधीय गुण पाए जाते हैं। इसमें anti inflammatory, anti bacterial , anti viral , anti oxidant गुण होते हैं। यह ब्रेस्ट मिल्क को भी बढ़ाने में मदद करते हैं। आप हल्दी दूध में मिलाकर पी सकते हैं।

26. तुलसी- तुलसी के पत्ते आयरन विटामिन के और carotene कि अच्छे स्त्रोत होते हैं। यह ब्रेस्ट मिल्क की वृद्धि में मदद करते हैं। तुलसी में anti oxidant होते हैं जो रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं।

खाने का तरीका- तुलसी के पत्तों को पानी में उबाल लें और उसमें शहद मिलाकर पिए।

27. मीट- अगर आप मांसाहारी हैं तो आप मीट खा सकती हैं क्योंकि इसमें भरपूर मात्रा में पोषक तत्व होते हैं जो ब्रेस्ट मिल्क को बढ़ाते हैं।

28. पानी व अन्य जूस- हर दिन पर्याप्त पानी पिए ताकि आपके शरीर में पानी की कमी ना हो पानी की कमी से भी ब्रेस्ट मिल्क उत्पादन में कमी आती है। फलों का जूस भी पिए क्योंकि इसमें कई तरह के पोषक तत्व होते हैं जो ब्रेस्ट मिल्क को बढ़ाते हैं।

29. बदाम- बदाम और अन्य नट्स में प्रोटीन और विटामिन ई भरपूर मात्रा में होती है। इसमें ओमेगा-3 फैटी एसिड पाया जाता है जो ब्रेस्ट मिल्क बढ़ाने में मददगार है। मां जो बच्चे को दूध पिलाती है उन्हें बदाम नियमित रूप से खाना चाहिए क्योंकि यह दूध की मात्रा और गुणवत्ता को बढ़ाते हैं।

30. खुबानी (Apricots)- खुबानी में फाइबर, कैल्शियम, विटामिन सी और विटामिन ए पाए जाते हैं। Apricots आपकी हारमोंस को संतुलित रखने में मदद करता है और यह ब्रेस्ट मिल्क को भी बढ़ाता है।

31. खसखस- खसखस में शरीर और दिमाग को शांत रखने के गुण होते हैं जो ब्रेस्ट मिल्क को बढ़ाने में मददगार है।

32. डेट्स (Dates)- डेट्स (Dates) आयरन और कैल्शियम के अच्छे स्त्रोत हैं। यह शरीर में शुगर के स्तर को नियंत्रित रखते हैं। इसमें विटामिन ए फाइबर और पोटेशियम भी पाया जाता है इसमें Lactogenic गुण होते हैं जो ब्रेस्ट मिल्क को बढ़ाते हैं।

33. अलसी का तेल- अलसी के तेल में Fatty acids और Calories भरपूर मात्रा में होती है जो ब्रेस्ट मिल्क उत्पादन को बढ़ाने में मददगार है।

34. दालचीनी- दालचीनी के कुछ ऐसे गुण हैं जो ब्रेस्ट मिल्क को बढ़ाने में मदद करते हैं। आप दालचीनी को दूध में मिलाकर पी सकते हैं।

निष्कर्ष

ऊपर दिए गए आहार (Foods to Increase Breast Milk in Hindi) के माध्यम से आप अपने ब्रेस्ट मिल्क को बढ़ा सकती हैं लेकिन सबसे महत्वपूर्ण यह है कि आप अपने बच्चे को दूध पिलाती रहें, जिससे आपके स्तन दूध उत्पादन को बनाए रखेंगे। अगर आप बच्चे को दूध पिलाना बंद कर देंगी तो आपका दूध उत्पादन भी बंद हो जाएगा। अपने दूध उत्पादन को बनाए रखने के लिए स्तनों से अतिरिक्त दूध को ब्रेस्ट पंप मदद से निकालते रहें।

और पढ़ें:

https://www.sehatness.com/pregnancy-me-kya-nahi-khana-chahiye

https://www.sehatness.com/ashwagandha-ke-fayde

https://www.sehatness.com/pet-kam-karne-ke-gharelu-upay

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *