Menu Close

कैंसर के कारण और बचाव- Cancer Ke Karan

Cancer Ke Karan

कैंसर कोशिकाओं के असामान्य रूप से बढ़ने के कारण होता है। कैंसर कोशिकाएं शरीर के सामान्य कोशिकाओं को नष्ट कर देती हैं। कैंसर एक जगह से शुरू होकर पूरे शरीर में भी फैल सकता है। दुनिया में कैंसर की वजह से कई लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ती है, लेकिन आज के दौर में बेहतर इलाज प्रक्रियाओं के माध्यम से कैंसर के इलाज की संभावनाएं बढ़ रही है। कैंसर कोशिकाओं में मौजूद DNA में बदलाव के कारण होता है। DNA के अंदर भारी मात्रा में Genes मौजूद होते हैं जो सही ढंग से काम नहीं करते, जिससे यह कोशिकाएं कैंसर में बदल जाते है। इस लेख में जानें कैंसर के कारण और बचाव- Cancer Ke Karan.

कैंसर के कारण निम्न है:

जीवनशैली संबंधी कारक- धूम्रपान करना फेफड़ों के कैंसर का मुख्य कारण है। तंबाकू खाना मुंह के कैंसर के होने का कारण है।

रसायन (Chemical)- Industrial dyes, Asbestos और Benzene जैसे अन्य रासायनिक तत्वों के लगातार संपर्क में रहने के कारण कैंसर उत्पन्न होता है।

रेडीयेशन (Ionizing Radiation)- रेडीयेशन के संपर्क के कारण भी कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी उत्पन्न होने का खतरा रहता है। किसी भी तरह का रेडीयेशन हमारे शरीर के लिए घातक है।

सूर्य की UV किरणें- लंबे समय तक सूर्य की UV ( Ultra Voilet ) किरणों के संपर्क में रहने से त्वचा संबंधी कैंसर होने का खतरा होता है क्योंकि UV किरणें हमारे त्वचा की कोशिकाओं को नष्ट करते हैं।

Genetic कारक- दस प्रतिशत विभिन्न प्रकार के कैंसर Genetic कारणों से होते हैं। ये Genetic कारण जन्म समय ही Genes में मौजूद होते हैं। ये Genes असामान्य होते हैं जो बाद में कैंसर का रूप ले लेते हैं।

वाइरस (Viruses)- कुछ वाइरस जैसे Hepatitis B, लिवर (Liver) कैंसर और Human Papillomavirus (HPV), सर्विकल (Cervical) कैंसर व अन्य कैंसर होने के खतरे को बढ़ाते हैं।

प्रदूषण- कैंसर होने की एक मुख्य वजह प्रदूषण भी है। आजकल हमारे आसपास खासकर शहरों में प्रदूषण इतना बढ़ गया है कि जिससे कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी उत्पन्न हो रही है।

कैंसर से बचाव:

कैंसर एक जानलेवा खतरनाक बीमारी है इसीलिए इससे बचाव बहुत ही जरूरी है। वैसे तो कैंसर से बचाव का कोई एक निश्चित उपाय नहीं है लेकिन डॉक्टरों के अनुसार कई उपायों से कैंसर होने की संभावनाओं को
कम किया जा सकता है जो निम्न हैं-

धूम्रपान ना करें- धूम्रपान करने से फेफड़ों के कैंसर होने का खतरा रहता है इसीलिए धूमपाना करें।

तंबाकू न खाएं- मुंह के कैंसर का मुख्य कारण तंबाकू खाना है इसलिए तंबाकू से दूर रहें।

सूर्य की किरणों से दूर रहें- अत्यधिक सूर्य की UV किरणें हमारे त्वचा को नुकसान पहुंचाती हैं। यह किरणें त्वचा की कोशिकाओं को नष्ट करती है इसीलिए सूर्य की किरणों से ज्यादा देर तक रहने से बचें।

स्वस्थ्य आहार- स्वस्थ्य भोजन शरीर के लिए बहुत ही जरूरी है। स्वस्थ्य भोजन बीमारियों से दूर रखने में मददगार है और शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।

नियमित व्यायाम- रोजाना नियमित रूप से व्यायाम करें व्यायाम कैंसर होने के खतरे को कम करता है इससे शरीर में ऊर्जा और स्फूर्ति बनी रहती है।

सही वजन- मोटापा और अत्यधिक वजन हमारे शरीर के लिए अनुचित है। यह शरीर में कई बीमारियों को उत्पन्न करता है और कैंसर होने की संभावनाओं को बढ़ाता है, इसीलिए अपने वजन को सही बनाए रखें।

शराब ना पिए- शराब पीना सेहत के लिए ठीक नहीं है। यह शरीर के रोग प्रतिरोधक क्षमता को कम करता है, जिससे बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता है इसीलिए शराब कम पिए या इसका सेवन ना करें।

Immunization- कुछ वाइरस (virus) की वजह से भी कैंसर होता है जैसे Hepatitis B से लिवर (Liver) कैंसर और HPV वाइरस से सर्विकल (Cervical) कैंसर इसलिए अपने डॉक्टर से इससे बचने के लिए Immunization के बारे में जानें।

जाँच- अगर आपको कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी के लक्षणों का अनुभव हो तो बिना देर किए डॉक्टर से संपर्क करें और जांच के माध्यम से यह सुनिश्चित करें कि आपको कैंसर की बीमारी है या नहीं।

प्रदूषण- कैंसर होने की एक मुख्य वजह प्रदूषण भी है इसीलिए प्रदूषण से बचें प्रदूषण वाली जगह पर ना रहें। खतरनाक केमिकल के संपर्क में आने से बचें।

इन सब उपायों और तरीकों के माध्यम से आप कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी से बच सकते हैं।

और पढ़ें:

https://www.sehatness.com/cancer-ke-lakshan

https://www.sehatness.com/cancer-ka-ilaj

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *