Menu Close

Ashwagandha Ke Fayde- अश्वगंधा के फायदे- Benefits of Ashwagandha

अश्वगंधा का संस्कृत में अर्थ है ” घोड़े की महक ” अश्वगंधा औषधि है जो सालों से एक दवाई के रूप में उपयोग की जा रही है। इसे मुख्यत: Indian Ginseng या Indian winter cherry के नाम से भी जाना जाता है। इसके जड़ और फल को कई प्रकार की दवाइयों में इस्तेमाल किया जाता है। अश्वगंधा को कई प्रकार की बीमारियों के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जाता है। अश्वगंधा के कई स्वास्थ्य लाभ हैं। अश्वगंधा में Anti Inflammatory, Anti Oxidizing, Anti Bacterial, Anti Stress गुण हैं। यह हमारे शरीर की ऊर्जा को बढ़ाने में, हमारे स्वास्थ्य को सुधारने में और हमारे शरीर के प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में सहायक हैं। इस लेख में  आप जानेंगे  Ashwagandha Ke Fayde- अश्वगंधा के फायदे- Benefits of Ashwagandha.

अश्वगंधा के लाभ

1. व्याकुलता- अश्वगंधा का हमारे शरीर पर ‘शांत’ प्रभाव होता है, इस कारण ये हमारे Nervous System को भी ‘शांत’ रहने में मदद करता है इस कारण यह व्याकुलता के इलाज में उपयोगी है।

2. तनाव- ऐसा माना जाता है कि अश्वगंधा हमारे शरीर के Cortisol level को कम करता है इसमें Anti stress गुण होते हैं जो तनाव को कम करते हैं।

3. याददाश्त- अश्वगंधा में Anti stress गुण होने की वजह से यह हमारे याददाश्त को भी बढ़ाने में मददगार है, ये मुख्यतः बच्चों में याददाश्त की समस्या और बूढ़े लोगों में याददाश्त को सही बनाए रखने में उपयोगी है।

4. पुरुष बांझपन- अश्वगंधा पुरुषों में Sperm Count और Sperm Motility को बढ़ाता है यह पुरुषों के Testosterone और Luteinizing Hormones को भी बढ़ाने में सहायक हैं।

5. वजन- अश्वगंधा का रोजाना इस्तेमाल करने से वजन बढ़ाने में मदद मिलती है।

6. मांसपेशियों के लिए- अश्वगंधा युक्त supplements आपके मांसपेशियों को बढ़ाने, मांसपेशियों को मजबूत करने और आपके शरीर के अत्यधिक वसा को घटाने में उपयोगी है इसके इस्तेमाल से मांसपेशियों की ताकत भी बढ़ती है।

7. मधुमेह- अश्वगंधा एक आयुर्वेदिक दवाई है जिसका इस्तेमाल मधुमेह के रोगी के लिए बहुत ही लाभकारी है इसका इस्तेमाल मधुमेह के लिए काफी लंबे समय से किया जा रहा है। अश्वगंधा Blood sugar level को कम करने में सहायक है।

8. हृदय के लिए- अश्वगंधा कोलेस्टरॉल (Cholesterol) को कम और नियंत्रित करने में सहायक है यह हमारे धमनियों (Arteries) को सख्त बनने से बचाता है। यह हमारे हृदय की मांसपेशियों को मजबूत बनाता है, अश्वगंधा हमारे हृदय को स्वस्थ रखने में उपयोगी है।

9. High Blood Pressure- अश्वगंधा उच्च रक्तचाप को सामान्य सीमा में लाने में मदद करता है।

10. संक्रमण- अश्वगंधा कई प्रकार के Bacteria, Fungus, Virus के संक्रमण से बचाव करने के लिए जाना जाता है, इसमें anti bacterial, anti viral, anti fungal or anti parasitic गुण होते हैं। यह Urogenital Gastrointestinal और साँस संबंधी संक्रमण से बचाव के लिए उपयोगी है।

11. दर्द- अश्वगंधा एक दर्द निवारक के रूप में काम करता है, अश्वगंधा Rheumatoid Arthritis से संबंधित दर्द और सूजन को कम करता है।

12. रजोनिवृत्ति (Menopausal) लक्षण- अश्वगंधा रजोनिवृत्ति के लक्षण  (Menopausal syndrome) को सही ढंग से नियंत्रित करने में सहायक है ये Hormonal ग्रंथि को उत्तेजित करता है Menopause मासिक धर्म के दौरान होने सतरावित वाले Hormones को नियंत्रित करने मे मदद करता है।

13. यौन कार्य- अश्वगंधा पुरुषों और महिलाओं में यौन संबंधी कार्यों को बढ़ाने में मदद करता है।

14. नींद- अश्वगंधा उन लोगों के लिए बहुत ही उपयोगी है जिन्हें नींद आने में दिक्कत होती है और जिन्हें Insomnia है क्योंकि अश्वगंधा अच्छी नींद प्रदान करने में सहायक है।

15. कब्ज- अश्वगंधा में कुछ ऐसे औषधीय गुण हैं जो कब्ज को ठीक करने में सहायक है।

16. गठिया रोग- रोजाना 10 ग्राम अश्वगंधा खाने से गठिया के रोग और इसके लक्षण में कमी आने लगते हैं।

17. बालों के लिए- अश्वगंधा बालों को झड़ने से रोकने में मदद करता है।

18 . लंबी उम्र- अश्वगंधा के नियमित इस्तेमाल से उम्र बढ़ती है क्योंकि इसमें Anti aging or Anti oxidant गुण होते हैं।

19. Anti Inflammatory गुण- अश्वगंधा मे anti Inflammatory गुण होते हैं जो जलन, रक्तिमा और सूजन को कम करने में मदद करते हैं।

20. Anti Cancer प्रभाव- अश्वगंधा में Anti cancer गुण भी होते हैं जिस कारण इसका इस्तेमाल औषधि रूप में कैंसर  का इलाज करने में भी किया जाता है अश्वगंधा कैंसर  पीड़ित रोगी के जीवन स्तर को सुधारने में भी मदद करता है।

21. हड्डियों के लिए- अश्वगंधा कैल्शियम और फास्फोरस को सही ढंग से हमारे हड्डियों में अवशोषित करने में मदद करता है जिससे हमारी हड्डियां मजबूत होती हैं।

22. किडनी के लिए- अश्वगंधा हमारे शरीर से विषैले पदार्थों को निष्कासित करने में मदद करता है और हमारे किडनी को विषैले पदार्थों से बचाता है जिससे किडनी की उम्र बढ़ती है।

23. लिवर के लिए- अश्वगंधा Liver Toxicity से बचाता है और यह हमारे लीवर को भारी धातुओं से बचाता है।

24. Auto-Immune रोग- अश्वगंधा एक थेरेपी के रूप में कुछ Autoimmune रोग जैसे (Systematic Lupus Erythematosus- SLE) के इलाज में भी इस्तेमाल किया जाता है।

25. Uterine Fibroids- लंबे समय तक अश्वगंधा को खाने से महिलायो के गर्भाशय में होने वाले Fibroids को भी ठीक करने में मदद मिलती है।

26. Polycystic Ovary Syndrome- Polycystic Ovary Syndrome (PCOS) आजकल महिलाओं में होना आम से बात हो गई है, इसका मुख्य कारण है हार्मोन्स असंतुलन। अश्वगंधा हार्मोन्स असंतुलन को ठीक करने में मदद करता है, जिससे PCOS की समस्या भी ठीक हो जाती है।

27. त्वचा के लिए- अश्वगंधा हमारी त्वचा संबंधित कई बीमारियां जैसे Vitiligo ( जिसमें त्वचा में सफेद दाग हो जाते हैं ), Leprosy and acne ( मुहांसे ) के इलाज में भी उपयोगी है। ये Hyper pigmentation (त्वचा का रंगहीन हो जाना ) को भी कम करने में मदद करता है।

28. मां का दूध- अश्वगंधा खाने से नवजात बच्चे को दूध पिलाने वाली मां के दूध को बढ़ाने में भी मदद मिलती है।

29. Erectile Dysfunction नपुंसकता- अश्वगंधा पुरुषों में कामेच्छा को बढ़ाने में मदद करता है। इसका पुरुषों में नपुंसकता के इलाज में भी उपयोग किया जाता है। नपुंसकता के लिए इसे खाने से पहले किसी आयुर्वेदिक डॉक्टर से सलाह जरूर कर लें।

30. थायराइड  ग्रंथि के लिए- Hypothyroidism से ग्रस्त रोगियों के लिए अश्वगंधा बहुत ही उपयोगी है, ये थायराइड (Thyroid) ग्रंथि को उत्तेजित करने में मदद करता है। इससे ज्यादा थायराइड  हार्मोन्स की उत्पत्ति होती है। अच्छे प्रभाव के लिए अश्वगंधा रोजाना खाएं।

31. रोग प्रतिरोधक क्षमता- कई शोध के अनुसार यह साबित हुआ है कि अश्वगंधा हमारे शरीर के रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है। यह खून में मौजूद Platelets की संख्या को भी बढ़ाता है।

32. खून उत्पादन- अश्वगंधा में Hematopoietic गुण भी होते हैं जो हमारे खून में मौजूद लाल रक्त कोशिकाओं और सफेद रक्त कोशिकाओं को बढ़ाने में मददगार हैं। ये Anemia रोग से भी बचाने में मदद करता है।

33. सांस संबंधी बीमारियां- अश्वगंधा हमें सांस संबंधी बीमारियां होने से भी बचाता है इसमें ऐसे गुण पाए जाते हैं जिससे हमें सांस संबंधी बीमारियां नहीं होती।

ऊपर आपने Ashwagandha Ke Fayde- अश्वगंधा के फायदों और गुणों के बारे में जाना। इन फायदों को प्राप्त करने के लिए अश्वगंधा का नियमित रूप से इस्तेमाल करना चाहिए। परंतु इसे खाने से पहले एक अच्छे डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

अश्वगंधा के नुकसान:

वैसे तो अश्वगंधा के कोई खास नुकसान नहीं है, लेकिन इसे खाने से पहले थोड़ी सावधानी जरूर रखें। नीचे कुछ अश्वगंधा के नुकसान दिए गए हैं:

* गर्भवती महिलाओं को इसे नहीं खाना चाहिए क्योंकि इससे उनके हार्मोन्स मैं बदलाव हो सकते हैं।

* इसे उन लोगों को खाने से पहले अपने डॉक्टर की सलाह अवश्य लेनी चाहिए। जो अन्य रोगों के लिए पहले से दवाइयां खा रहे हैं, जैसे मधुमेह , उच्च रक्तचाप, तनाव, अनिद्रा।

* अश्वगंधा को अत्यधिक ना खाएं इससे दस्त, पेट खराब या जी मचलना जैसे दुष्प्रभाव हो सकते हैं।

कैसे खाएं

अच्छे स्वास्थ्य के लिए आप एक-दो चम्मच या 5 से 6 ग्राम अश्वगंधा पाउडर गर्म दूध के साथ रोजाना सोने से पहले ले सकते हैं।

हालांकि किसी भी विशेष रोग के लिए अश्वगंधा खाने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य लें।

और पढ़ें:

https://www.sehatness.com/pregnancy-me-kya-nahi-khana-chahiye

https://www.sehatness.com/how-to-stop-snoring-in-hindi

https://www.sehatness.com/best-sex-positions-to-get-pregnant-fast-in-hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *